इंटरनेट क्या है? और कैसे इंटरनेट काम करते है। जानिए यहां पे इंटरनेट बारे में

0
1

आप ने इंटरनेट का नाम तो सुना ही होगा ही। और आप उसका यूज बेहतरीन तरीके से बी करते होंगे। आज के जमाने में इंटरनेट के बिना काम करना बहुत ही कम होता है। जब आपको अभ्यास करना हो या सरकारी काम हो सभी में आप को इंटरनेट करना पड़ता है इंटरनेट से आप कुछ बी काम को आसानी एसई कर सकते हो।

हम बात करे आप को इंटरनेट के बिना जीना क्या अब मुश्किल है? तो आपको सभी लोक ना ही बोलंगे कुंकी इंटरनेट हमारी लाइफ में इतना इंपॉर्टेंट हो गया जिसे हम यूज किए बिना हमारा दिन बित सकता नहीं है। जब किसी को देखो वह इंटरनेट को यूज करते ही दिखेगा।

लेकिन आप के मन में एक प्रश्न होगा को ए इंटरनेट क्या है। और कैसे काम करता है। आप कहीं भी बाहर जाएंगे तो आप को इंटरनेट किसी ना किसी रूप में दिखेगा ही। आप अपने मोबाइल को भी इंटरनेट की बिना ऑनलाइन कनेक्ट नहीं कर पाएंगे।

हम आपको यह बात बताए कि इंटरनेट क्या है और कैसे काम करता है। इसे पहले में आपसे एक बात बोलना चाहता हूं अभी की लाइफ में आप बिना खाए , बिना बिजली की सकते है लेकिन बिना इंटरनेट बहुत ही मुश्किल है।

में बच्चो से लेके बूढों की बात करू तो हर कोई आपने मोबाइल में इंटरनेट का यूज करते हुए है देखा जाएगा। आप कोई स्टूडेंट्स, या किसी और को पुसेंगे के आप क्या कर रहे हो तो उसका उतर होगा इंटरनेट। जिसे वह लोग अपने फ्रेंड्स के साथ पढ़ना , बाते शेयर करते है।

पहले सभी को सरकारी कामे कराने के लिए लाइन में धखे खाने पड़ते थे। और सुबह से शाम तक लाइन में खड़े रहने के बाद भी नंबर नहीं आता था लेकिन इंटरनेट आने पर यह काम बहुत ही मुश्किल हो गया है। जिसे आप गर बैठे या साइबर केफे में जाके २ से ३ दिन का काम आप १० या २० मिन्यूट्स में हो जाता है। इसलिए इंटरनेट हमारी लाइफ को बहुत आसान और फास्ट बना दी है।

Internet क्या है?

हम आपको सरल भासा में बताए तो इंटरनेट एक ऐसी जाल है जो हर उपकरण को अपने जाल में कनेक्ट रखता है। ए communication protocol का यूज करके माहिती दूसरे प्लेटफॉर्म में से इकठ करती है।

इंटरनेट को आप देखे तो वह अपने आप में सभी डाटा का स्टोरेज करता है। जब आप कुछ बी भेजते हो तो वह अपने आप में स्टोर करे के दूसरे व्यक्ति को दिखाता है। जैसे आप समझ लीजिए हम यहां पे आपके लिए को भी दिखा रहे है या लिख रहे है वह चीजे इंटरनेट अपने आप में स्टोर कर देता है। और आप के सर्च करने पर आपको गूगल के मीडियम से दिखाएगा।

ऐसे ही इंटरनेट में ढेर सारे कंप्यूटर, लैपटॉप,मोबाइल कनेक्ट होके बड़ा नेटवर्क बनता है। और उसका एक दूसरे से ऑनलाइन कनेक्शन होने पर आप उसे इंटरनेट के नेम से जानते है।

इंटरनेट में डाटा , सर्वर, नेट, या किसी भी रूप में माहिती देता है। जो एक बिजली के वायर से भी समझ सकते हो। जैसे कि बिजली स्टार्ट होने प्र आपके गर में उजाला होता है। वैसे ही जब आप अपना नेट स्टार्ट करने पर आप अपना इंटरनेट को लाइव कर सकते हो । कंप्यूटर के लिए राउटर , मोबाइल के लिए डाटा पैक की जरूरत रहती है।

इंटरनेट की जाल में ढेर सारे डाटा जैसे कि एमपी३ सोंग्स, वीडियो , फाइल्स , इकठ्ठा करता है। जो सर्च करने पर एक सर्वर से दूसरे सर्वर भेजता रहता है। हमने बताए इस तरह एक वायर की तरह उसका प्रदान अपने यूजर्स को डाटा के रुप में करता रहेता है। जैसे कि सबसे ज्यादा इनटरनेट में टेक्स्ट, इमेजेस, वीडियो, फाइल आदन प्रदान होता रहेगा है।

इंटरनेट की खोज कब हुई और कैसे?

आप को ऐसा लगता है होगा कि ए इंटरनेट की खोज जब और किस रूप में हुई तो हम आपको उसी के बारे में बताएंगे इंटरनेट का यूज इतना ही बढ़ गया है। की इससे टेक्नोलॉजी के नए उपकरण बनाने में बहुत आसानी होती है। और हम दूसरे के विचारो को भी ऑनलाइन आसानी से हो रहे है।

हम आप को बता दे की इंटरनेट की खोज कोई एआई बंदे ने नहीं को , बल्कि उसको बनाने में बहुत सारे इंसानों का हाथ है। उसकी खोज अमेरिका में हुई थी। जब १९५८ में कोल्ड वॉर हुआ तब, अमेरिकन सरकार ने टेक्नोलॉजी को विकसने को यहां लिया था।

और उसके चलते कई engineers, aur sciencetis की कड़ी बर्षो कड़ी मेहनत के बाद इंटरनेट को सोधा गया था। जो अपने आप में इस दायके की सबसे बड़ी काम कामयाबी को देख सकते है।

उसे विकसते हुए करीब १९६९ में ARPANET की शुरुआत की, जो एक एजेंसी ने विस्काया था। जो अपने आप में एक कंप्यूटर किसी भी कंप्यूटर को जोड़ सकता था।

१९८० सकते में अरपनेट का नेम धीरे धीरे बदलके इंटरनेट हो गया । जिसकी शुरुआत बहेत तरीके से हो गई थी धीरे धीरे समय के चलके की बदलाव हुए और १९८३ में फाइनली इंटरनेट को खोजने का काम हो गया था।

इंटरनेट को बनना ने में दो प्रोटोकोल खास तरीके से यूज किया था टीसीपी ( Transmission Control protocol) , and IP ( internet Protocol ) जो दोनों माहिती को एक उपकरण से दूसरे में भेजने का काम करते है। इंटरनेट पूरी तरह से प्रोटोकोल पे आधारित है। जो उसके मशीन को फ़ॉलो करके माहिती को सेंड करता है।

इंटरनेट का फुल फॉर्म क्या है?

आप को बता दी इंटरनेट उसका पूरा नेम नहीं ही बल्कि उसको शॉर्ट नेम से जाना जाता है। इंटरनेट का पूरा नेम Interconnect network है। जिसे नेम से ही आपको पता चल जाता है कि सभी चीजे अपने आप से एक दूसरे के साथ कनेक्ट रहती है।

इसलिए आप हमेशा इसे शॉर्ट नेम से ही बोलते हो। जिसे आपको बोलने में भी दिक्कत नहीं होती है। और सभी लोग इस नेम से जानते है । जब कोई आप को पूछता है तो ऐसे ही पुसेंगा क्या आपके पास इंटरनेट है?

टीसीपी / आईपी क्या है?

हमने आप को ऊपर बताया उसी तरह टीसीपी और आईपी एक इंटरनेट प्रोटोकॉल ही है। जो इंटरनेट को चलानामे मदद करता है। वह इस तरह का प्रोटोकोल है जो सभी डाटा का लेन देन करता रहता है।

हम बात करे तो टीसीपी की तो उसका कम माहिती को ट्रांसमिट करना है। जब आप के फ्रैंड्स या फैमिली को मैसेज भेजते हो तो वोह ट्रांसमिट कहा जाता है। जो टीसीपी से ही पॉसिबल होता है

आईपी देखे तो वह ऑनलाइन सभी डाटा को स्टोर करता है। और अपने यूजर्स को जब सर्च होने प्र दिखाता है। जैसे कि आप गूगल पे कोई बी चीज के बारे में लिखते हो तो वह आसानी से इंटरनेट प्रोटोकल के माध्यम से आपको दिखा पाएंगें।

इलेक्ट्रॉनिक्स मैल ( Email)

हमने आपको बताया इंटरनेट के बारे में आब बात करते है केसे आप इंटरनेट का यूज करके अपने ऑफिस, फ्रैंड्स के साथ डॉक्यूमेंट या मैसेज सेंड , या फिर देख सकते हो।

ईमेल से आप अपना इंपोर्टेंट मैसेज की आप ले आसानी से के सकते हो। जब पहले इंटरनेट नहीं था तब आप को टपाल से काम चलाना पड़ता था। और उसे भेजने में कई दिन बीत जाते थे लेकिन अब इंटरनेट आने पर आप आसानी से १ सेकंड्स के भीतर आपने तपाल मैल के मार्फत भेज सकत है।

इसके लिए आपको मैल आईडी चाइए जिसे आप साइनअप होके किसी के साथ बात या फिर मीडिया के ले देन कर पाते है।

कैसे करे सरकारी काम इंटरनेट से?

आप को पता ही सरकारी काम करने में को जैसे पैनकार्ड काढ़ने में और उसी तरह कई काम करने में आपको धक्के खाने पड़ते है। लेकिन इंटरनेट के माध्यम से कोई बी सरकारी काम आसानी से कर सकते है।

आप को काम करना हो तो उसकी ऑफिशियल साइट में जाके उसकी बताई हुई स्टेप को फ़ॉलो करेके आप अपना काम आसानी से कर सकेंगी।

जैसे कि आप को पैनकार्ड बनाना हो तो आप उसकी ऑफिशियल साइट में जाके आसानी से पैनकार्ड बनवा सकते हो।

इंटरनेट के फायदे

आपको पता ही है इंटरनेट के ढेर सारे फायदे है। जैसे कि आप अपना ऑफिस का काम भी इंटरनेट के माध्यम से गर बैठे कर सकते हो।

स्टूडेंट्स ऑनलाइन स्टडी कर सकते हो।

आप की कोई बी परेशानियां इंटरनेट के माध्यम से हल कर सकते हो।

आप टेक्निकल नॉलेज यूट्यूब को देख कर आसानी से कर सकते हो।

इंटरनेट के गर फायदे

इंटरनेट से आपके कंप्यूर और मोबाइल वायरस आने का जोखिम बहुत होती है।

छोटे बच्चे को गेम और जैसी चीज़ों की लत लगने से पढ़ने में बहुत दिक्कत होती है।

इंटरनेट आपका टाइम बहुत ही कंज्यूम करता है। और उसका गलत यूज आपके लिए बहुत मुश्किल या बढ़ सकती है। जैसी ऑनलाइन फ्रौड़ जैसी चीजों से आपके बलैंस पर भी जोखिम रहता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here